ऊर्जा संरक्षण कैसे कर सकते है, ऊर्जा संरक्षण के उपाय क्या है

ऊर्जा संरक्षण कैसे कर सकते है, ऊर्जा संरक्षण के उपाय क्या है. महात्मा गाँधी ने कहा था कि हर आदमी की जरूरतों को पूरा करने के लिए पृथ्वी पर प्राप्त संसाधन है, लेकिन हर आदमी की लालच को पूरा करने के लिए नहीं. हम ऊर्जा का उपयोग करके उत्पादन की तुलना में ज्यादा तेजी से करते है. ऊर्जा के लिए हम कोयला, पेट्रोलियम तेल और प्राकृतिक गैस सबसे अधिक उपयोग करते है.

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

जिनका वर्तमान स्वरुप हजारों साल बाद विकसित हुआ है. यह ऊर्जा संसाधन सिमित है.भारत में दुनिया की 16 प्रतिशत से अधिक आबादी रहती है, वही दुनिया के ऊर्जा संसाधनों का लगभग एक प्रतिशत भारत में पाई जाती है. ऊर्जा संरक्षण के जरिये हम पृथ्वी को बचा सकते है, ग्लोबल वार्मिंग को खत्म कर सकते है.

इस आर्टिकल में हम आपको यही बताने वालें है कि आप ऊर्जा संरक्षण कैसे कर सकते है, ऊर्जा संरक्षण के उपाय क्या है, ऊर्जा संरक्षण की महत्वपूर्ण जानकारी आप सभी को यह अवश्य जानना चाहिए कि आप ऊर्जा संरक्षण कैसे कर सकते है, अगर आप ऊर्जा संरक्षण में अपना योगदान नहीं देते है तो आपका कोई हक़ नहीं है कि आप पृथ्वी पर रहें, इसलिए आपको ऊर्जा संरक्षण करनी चाहिए.

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

ऊर्जा संरक्षण का उपाय (ऊर्जा संरक्षणकैसे कर सकते है?)  

1. उपकरण को अनप्लग करके रखना

किसी भी ऐसे उपकरण (टीवी, बल्ब, पंखा इत्यादि) को अनप्लग करके रखना चाहिए, जिसका उस समय इस्तेमाल नहीं किया जा रहा हो. आप शायद जानते होंगे कि जिन उपकरणों का प्लग सॉकेट में लगा होता है, वे बंद होने पर भी ऊर्जा का उपयोग करते रहते है. यहाँ तक कि यदि कॉफ़ी पॉट की तरह के एक छोटे उपकरण का प्लग भी सॉकेट में लगा हो.

तो वह धीरे-धीरे ऊर्जा का उपभोग करते रहता है, फिर चाहे उस उपकरण का उपयोग कॉफ़ी बनाने के लिए पहले किया गया हो. हर समय अपने टीवी का प्लग लगा हुआ नहीं रहने दें. टीवी देखने के बाद, उसका प्लग निकालना असुविधाजनक लग सकता है, लेकिन प्लग निकालने से आप अपने बिजली के मीटर कम कर सकते है. यही काम आप छोटे उपकरण जैसे फ़ोन का चार्जर का प्लग निकालना नहीं भूलें.

2. एयर कंडीशन के ज्यादा उपयोग नहीं करें

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

कभी-कभी एयर कंडीशन का उपयोग करना आवश्यक होता है, लेकिन उसे वसंत की शुरुआत से गर्मियों के अंत तक लगातार नहीं चलाना चाहिए. जब भी संभव हो घर और खुद को ठंडा करने के लिए उसका सिमित उपयोग करें तथा अन्य तरीका आजमाये, जिससे घर ठंडा हो सकता है.

3. घर के सभी पुराने बल्ब को बदलना

साधारण फिलामेंट वालें बल्ब का जितना जल्दी हो सके उसका उपयोग करना ही बंद कर दें. उसकी जगह CFL और LED बल्ब का उपयोग करके काफी ऊर्जा संरक्षण किया जा सकता है. साधारण बल्ब उपयोग की गई 98 प्रतिशत ऊर्जा गर्मी के माध्यम से छोड़ते है,

जबकि CFL और LED कहीं ज्यादा ऊर्जा दक्ष होते है और उससे कई गुना ज्यादा समय तक चलते है. चूँकि CFL बल्ब का भी दौर खत्म हो चूका है. अब बाजार में LED उपलब्ध है, वे थोड़े महंगे होते है, लेकिन वह ज्यादा समय तक चलते भी है और ऊर्जा संरक्षण भी करते है.   

4. सौर ऊर्जा का अधिक उपयोग करना

अपने घर में आपको सौर ऊर्जा के अधिकतम उपयोग पर ध्यान देना होगा. शुरुआत में यह परिवर्तन करना बहुत महंगा हो सकता है, लेकिन इससे समय के साथ पैसे और ऊर्जा दोनों बचाएं जा सकते है. घर के बहार सौर ऊर्जा से चलने वालीं लाइट्स लगवाने पर अधिक जोड़ दें.

पानी गरम करने के लिए सौर ऊर्जा का ही उपयोग करें. इस तरह के उपकरण उपलब्ध कराने वालें स्थानीय केन्द्रों से संपर्क करके आप इस तकनीक का उपयोग करके इसका उपयोग आसानी से कर सकते है तथा ऊर्जा संरक्षण भी कर सकते है.

5. बेवजह ऑन पड़ें बल्ब को ऑफ करें

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

यह बिजली बचाने का सबसे आसान और सबसे आम उपाय है और यह वास्तव में काम करता है. आपको इस बात पर ध्यान देना शुरू करें कि एक निश्चित समय पर, आपके घर में कितने बल्ब है. इस बात के प्रति जागरूक रहें कि आपको एक समय पर कितने बल्ब जलने की आवश्यकता है. जब भी कमरें के बाहर जाएँ तो बल्ब के स्विच को ऑफ करना नहीं भूलें.

6. गर्म पानी का कम उपयोग करें

पानी को गर्म करने में काफी ऊर्जा लगती है. ठंडे पानी से नहाना जरुरी नहीं है, लेकिन इसके प्रति जागरूक होना जरुरी है कि आप कितने गर्म पानी का उपयोग करते है. साथ ही पानी को गर्म कैसे किया जा रहा है. इस तरह आप ज्यादा ऊर्जा संरक्षण कर सकते है. सुनिश्चित करें कि आपका वाटर हीटर इंसुलेटेड हो, ताकि उससे बहुत ज्यादा गर्मी बाहर नहीं आयें. अधिक समय तक आपको शावर भी नहीं लेना चाहिए. इससे भी बहुत ज्यादा बिजली खत्म होती है.

7. नये मॉडल से ऊर्जा बचाये

जब पुराने उपकरण निर्मित किया जाता था, तब कम्पनियां बिजली की बचत के बारें में अधिक नहीं सोचती थी. अब नये मॉडल को ऊर्जा संरक्षण के लिए तैयार किया जाता है, जिससे घरेलु लागत कम होती है. यदि आपके घर में पुराना फ्रिज, टीवी, ओवन, वाशिंग मशीन इत्यादि है तो आपको चाहिए कि उसे बदलकर उसके जगह नये उपकरण का प्रयोग करें.

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

नये उपकरणों का एनर्जी स्टार देखें, इससे आपको यह आंकने में मदद मिलेगी कि उस उपकरण में कितना ऊर्जा उपयोग होता है. कई बार बच्चे फ्रिज खोलके यह सोचते है कि इन सभी चीजें में से क्या खाएं, लेकिन ऐसा करने से ऊर्जा की अधिक खपत होती है. इसलिए जितनी जल्दी हो सकें, फ्रिज को खोले और उसे तुरंत बंद करें, जिससे ऊर्जा संरक्षण हो सकें.

8. घर में नेचुरल लाइट्स को आने देना

आप अपने घर के पर्दे सुवह की खोलके रखें, जिससे सूरज की रौशनी घर के अन्दर आ सकें. जब भी हो सकें पढ़ाई करते समय बिजली के बल्ब की जगह सूरज की रौशनी का उपयोग करना चाहिए. इस तरह आप प्रतिदिन बिजली की खपत को कम कर सकते है. आप हलके रंग के पर्दे अपने घर के खिड़की पर लगा सकते है, जिससे कमरा में सूरज का प्रकाश तो आएगा ही आएगा साथ ही पर्दा आपके घर की सुन्दरता को भी बढ़ाएगा.  
  
ऊर्जा संरक्षण की महत्वपूर्ण जानकारी

1.     बल्व व ट्यूबलाइट पर जमी धूल को नियमित रूप से साफ़ करते रहे.
2.     पंखो की ब्लेड नियमित रूप से साफ करते रहे और समय समय पर ग्रीसिंग आयलिंग करते रहे. पुराने किस्म के रेगुलेटर के स्थान पर नए टाईप के इलेक्ट्रानिक्स रेगुलेटर लगावे.

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

3.     फ्रिज का दरवाजा बार-बार खोलने बंद करने से बिजली की खपत बढ़ती है.
4.     टी.वी.म्यूजिक सिस्टम और टेपरिकार्ड आदि को स्टेंड बाई मोड में न रखे.
5.     एक टी.वी. स्टेंड बाई मोड में रखने पर एक वर्ष में 60 यूनिट बिजली खर्च होती है.

6.     गीजर में अधिकतम विद्युत खर्च होती है अतः उतना पानी गरम करे जीतनी जरुरत है थर्मोस्टेट की सेटिंग कम करके 75 से 50 डिग्री रखना चाहिए.
7.     क्या आप जानते है कि आपकी वार्षिक विद्युत खपत का 25 प्रतिशत रेफ्रिजेटर द्वारा खर्च होता है। फ्रिज के पीछे की तरफ़ लगी कूलिंग क्वाइल पर जमी धूल के कारण इसकी क्षमता घाट जाती है जिससे मोटर को बहुत अधिक कार्य करना पड़ता है और विद्युत खर्च बढ़ता है.

8.     फ्रिज को बाहरी दीवार से सटाकर नही रखना चाहिए.
9.     वासिंग मशीन में सलाना खपत का 20 प्रतिशत भाग खर्च आता है इसमे धुलाई के लिए गरम पानी का तापमान नियंत्रित कर विद्युत ऊर्जा की बचत की जा सकती है.
10.   घरो के वातानुकूलन हेतु प्रयुक्त ए.सी.को सीधे धूप में न रखकर अथवा उसके लिए एक शेड बनाकर 4 प्रतिशत तक विद्युत ऊर्जा की बचत की जा सकती है.   

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

आखरी शब्द

आपने इस आर्टिकल में ऊर्जा संरक्षण कैसे कर सकते है, ऊर्जा संरक्षण के उपाय क्या है, ऊर्जा संरक्षण की महत्वपूर्ण जानकारी के बारें में जाना. आपके लिए और हम सभी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि हम अधिक से अधिक ऊर्जा संरक्षण करें, जिससे आने वाली पीढ़ी को ऊर्जा की कमी ना हो. आप इसको सोशल मीडिया इत्यादि पर शेयर करें, जिससे हर कोई यह जान सकते है कि ऊर्जा संरक्षण कैसे करें. शुरू से अन्त तक इस आर्टिकल को पढने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…  

Thanks to Reading This Post       

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Like Reaction
Like Reaction
Like Reaction
Like Reaction
Like Reaction

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here