क्या आप जानते है भारत का सबसे बड़ा अवार्ड कौनसा है और ये क्यों मिलता है एवं अब तक कितनों को मिला है आइए जानते है

भारत का सबसे बड़ा अवार्ड कौनसा है : जैसा की दोस्तों हम सभी जानते है की किसी ना किसी देश का कोई ना कोई अवार्ड सबसे बड़ा होता है जिसे दुनिया में बहुत कम लोग हासिल कर पाते है ठीक इसी तरह का एक अवार्ड हमारे देश का भी जो की सर्वोच्य है परन्तु क्या आप जानते है की ये किस फिल्ड में दिया जाता है। अक्सर हम देखते है की किसी एक फील्ड के लोगों को उनकी काबिलियत के हिसाब से सम्मानित किया जाता है। परन्तु अब में आपको बता दूँ की भारत का सबसे बड़ा अवार्ड भारत रत्न है जिसे की किसी भी क्षेत्र में सर्वोच्य कार्य करने के लिए दिया जाता है।

भारत रत्न क्यों मिलता है (Why do you get Bharat Ratna)

क्या आप जानते है भारत का सबसे बड़ा अवार्ड कौनसा है और ये क्यों मिलता है एवं अब तक कितनों को मिला है आइए जानते है
क्या आप जानते है भारत का सबसे बड़ा अवार्ड कौनसा है और ये क्यों मिलता है एवं अब तक कितनों को मिला है आइए जानते है

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी ) का उदय और उसके प्रधानमंत्री की सूची Biography of Bharatiya Janata Party

कहा जाता है की आप किसी भी क्षेत्र में अच्छे है तो आप हर मुकाम हासिल कर सकते है। बस आपको उसके लिए मेहनत करनी पड़ती है। भारत रत्न किसी भी क्षेत्र में अच्छा काम करने के लिए दिया जाता है चाहे वो खेल हो, साहित्य हो या फिर सफाई या आंदोलन या फिर समाज सेवा या कला का क्षेत्र हो।

हमारे भारत देश में *भारत रत्न* अब तक 48 लोगो को दिया जा चूका है जिनमे से कुछ तो विदेशी लोग भी है।

Read :  पुष्पम प्रिया चौधरी की जीवनी | Pushpam priya chaudhary biography in hindi

इन लोगो को अब तक भारत रत्न से नवाजा गया (These people have been awarded the Bharat Ratna till now)

क्या आप जानते है भारत का सबसे बड़ा अवार्ड कौनसा है और ये क्यों मिलता है एवं अब तक कितनों को मिला है आइए जानते है
क्या आप जानते है भारत का सबसे बड़ा अवार्ड कौनसा है और ये क्यों मिलता है एवं अब तक कितनों को मिला है आइए जानते है

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की स्थापना कब और किसने की थी और तब से अब तक कितने प्रधानमंत्री बने

क्रमांक नाम साल
1 चक्रवर्ती राजगोपालाचारी 1954
2 सी.वी. रमन 1954
3 सर्वपल्ली राधाकृष्णन 1954
4 भगवान दास 1955
5 एम. विसवेशरैय्या 1955
6 जवारहलाल नेहरू 1955
7 गोविंद वल्लभ पंत 1957
8 डी. केसव कर्वे 1958
9 बिधान चंद्र रॉय 1961
10 पुरुषोत्तम दास टंडन 1961
11 राजेंद्र प्रसाद 1962
12 जाकिर हुसैन 1963
13 पांडुरंग वामन काने 1963
14 लाल बहादुर शास्त्री 1966
15 इंदिरा गांधी 1971
16 वी.वी. गिरी 1975
17 के. कामराज 1976
18 मदर टेरेसा 1980
19 विनोबा भावे 1983
20 खान अब्दुल गफ्फार खान 1987
21 एम.जी. रामचंद्रन 1988
22 बी.आर. अंबेडकर 1990
23 नेल्सन मंडेला 1990
24 राजीव गांधी 1991
25 सरदार वल्लभभाई पटेल 1991
26 मोरारजी देसाई 1991
27 अब्दुल कलाम आजाद 1992
28 जे.आर.डी. टाटा 1992
29 सत्यजीत राय 1992
30 ए.पी.जे. अब्दुल कलाम 1997
31 गुलजारी लाल नंदा 1997
32 अरुणा आसफ अली 1997
33 एम.एस.सुबुलक्ष्मी 1998
34 चिदंबरम सुब्रमण्यम 1998
35 जयप्रकाश नारायण 1999
36 रवि शंकर 1999
37 अमर्त्य सेन 1999
38 गोपीनाथ बारदोलई 1999
39 लता मांगेशकर 2001
40 बिस्मिल्लाह खान 2001
41 भीमसेन जोशी 2008
42 प्रो. सी.एन.आर. राव 2013
43 सचिन तेंडुलकर 2013
44 अटल बिहारी वाजपेयी 2014
45 मदन मोहन मालवीय 2014
46 प्रणब मुखर्जी 2019
47 भूपेन हजारिका 2019
48 नानाजी देशमुख 2019

 

वो विदेशी लोग जिन्हे भारत रत्न मिला 

खान अब्दुल गफ्फार खान : भारत रत्न पाने वाले ये पहले विदेशी थे। समाज सेवा के लिए इन्हे भी सम्मानित किया गया। ये एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी, 1929 में खुदाई ख़िदममगर की स्थापना इन्होने की। महात्मा गांधी के कट्टर अनुयायी, सीमांत गांधी के नाम से जाने जाते थे।

Read :  सबसे अच्छा कम्प्युटर कोर्स | Top 10 best computer course in hindi 2020

नेल्सन मंडेला : समाज सेवा के क्षेत्र में दक्षिण अफ्रीका के विरोधी वर्णभेद आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका और 1994 से 1999 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति के रूप में नेल्सन मंडेला ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 1993 में नोबेल शांति पुरस्कार प्राप्त मंडेला को दक्षिण अफ्रीका का गांधी भी कहा जाता है।

 

Like Reaction
Like Reaction
Like Reaction
Like Reaction
Like Reaction

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here