Hello Reader इस Post में मैं आपको जानकारी दुँगा कि April Fool (मुर्ख दिवस) को क्यों मनाते है तथा इसके पीछे छुपे रहस्मयी बात कहानी क्या है. जब आपको Fool बनाने की बात आती है तो हम आपको कुछ भी नहीं बताएँगें, क्या करिएगा ये सभी बातें को जान कर जैसे किसी को बिना April Fool के बारें में जानकार दूसरों को मुर्ख बनाते आ रहे है, वैसे ही आप सबको April Fool बनाते रहिए.

Sorry Sorry All मैं आपको April Fool बना रहा था, हमारा इतना भी आपके साथ हक नहीं बनता है कि हम आपको April Fool नहीं बना सकते है. अगर आपको बुरा लगा हो तो फिर से Sorry लेकिन आप April Fool से पहले Fool बन गएँ है.
इन सभी बातों को छोड़कर हम इस Article के Topic पर आते है. पिछले Article में हमने आपको जानकारी दिया था कि Valentine Day क्यूँ मनाते है अगर आपने अभी तक हमारा वो Article नहीं पढ़े है तो आप उसे भी पढ़ सकते है.
April Fool के बारें में हम सभी पुरी जानकारी के साथ जानेंगें. तो चलिए हम Direct Topic पर आते है.

हम सबको April Fool क्यूँ बनाते है    

India में हर साल 1 April को April Fool (मुर्ख दिवस) के रूप में मनाया जाता है. इस दिन अच्छे-अच्छे की हालत गंभीर हो जाती है कि शायद उन्हें कोई मुर्ख ना बना दें. मुर्ख दिवस के दिन हर लोग एक-दुसरे को मुर्ख बनाने का Idea सोचते रहते है कि हम उनको कैसे April Fool बनाएँ. मुर्ख दिवस को मानाने का मुख्य उदेश्य अपनी Life को दूसरों के साथ Cheat करके Enjoy करना है तथा अपनी New Idea को अपना कर दूसरों को मुर्ख बनाना है.
मुर्ख दिवस के दिन आप जरा गौर से देखना कि लगभग सभी एक दुसरे से बात करने से कतराते है तथा अपनी Friends से भी उतना उस दिन विश्वास नहीं रखते है, क्या पता उन्हें भी कोई Fool बना दें, इसलिए वो एक दुसरे से बात करने से कतराते है. लेकिन उनको क्या पता उनका एक Idea है इनसे बचने का लेकिन सभी के पास हजार Idea है उन्हें मुर्ख बनाने का????

April Fool कब से मनाया जाता है  

1. April Fool की शुरुआत फ्रांस 1582 में हुई थी. वर्ष 1582 में पॉप चाल्स ने New रोमन कलेंडर शुरुआत की थी.
2. 19वी. शताब्दी से April Fool को मनाया जाता है But इस दिन World में कही पर भी अन्य दिवस के तरह छुट्टी नहीं होती है. अंग्रेजी साहित्य के पिता जोफ्री चौसर की केंटलबलि टेल्स एक ऐसा पहला ग्रन्थ है जिसमें First बार April Fool का विश्लेषण किया गया है.
3. 1392ई. में ब्रिटिश लेखक चौसर की किताब केंटलबलि टेल्स में मिला था. 13वी. सदी इंग्लैंड के राजा रिचर्ड सेकंड और बाहेमिया की रानी एनी की सगाई करने का तय किया गया था. यह सगाई का तारीख 32 मार्च को रखा गया. कैंटरबलि के लोग इस तारीख को सच मान लिया उनके डर से, लेकिन बाद में पता चला कि 32 मार्च होती ही नहीं है. जिस कारण इस तारीख को सही मानने वाला व्यक्ति मुर्ख बन गएँ और 32 मार्च की जगह 1 April को मुर्ख दिवस मानाने लगें.

Other Country में April Fool को लोग कब और कैसे मनाते है  

1. डेनमार्क में 1 मई को April Fool Day के रूप में मनाया जाता है और इसे “मेज कट” कहते है.
2. फ्रांस, इटली और बेल्जियम में कागज की मछली बनाकर लोगों के पीछे वालें हिस्से में लगा कर उन्हें मुर्ख बनाया जाता है.
3. स्पेनिस Language बोलने वालें देश में April Fool 28 दिसम्बर को मनाया जाता है. जिसे “Day Of Holi Innocent” कहा जाता है.
4. ईरानी फरशी New Year पर एक-दुसरें के साथ तंज कसते है.

April Fool पर महशुर दो कहानियाँ

1. एक बार की बात है 1 April 1915 को जब जर्मन के हवाईअड्डे अंग्रेज Officer ने एक विशाल बम बिल्कुल फूटबल की भांति को फेंका. जिसकी डर से आस-पास के सभी लोग वहाँ से डर के कारण नौ दो ग्यारह (भाग जाना) हो गएँ. जब सभी को बाद में पता चला कि यह बम तो फटा ही नहीं क्योंकि यह एक फूटबल थी जिस पर April Fool लिखा हुआ था.

1. 1 April 1960 का यह कहानी है यह काफी Famous Story है. इस दिन किसी ने लंदन हजारों लोगों के घर एक-एक करके Post Card भेजा. जिसमें लिखा था “आज शाम को टॉवर Of लंदन में सफेद गदहों को सम्मान किया जाएगा. आप सभी को ये Card अपने साथ लेकर आना है” But उस दिन किसी कारण से टॉवर House Close था. शाम होते ही इस टॉवर House के Get पर इतना अधिक भीड़ जमा हो गया कि लोग एक दुसरें से लड़-झगड़ कर उस टॉवर House के Get के ऊपर से प्रवेश करना चाहते थे. तब सभी को कुछ Time के बाद पता चला कि कोई उनको April Fool (मुर्ख दिवस) बना गया.

तो यह था April Fool के पीछे छुपी रहस्मयी बातें जो शायद आप नहीं जानते थे, लेकिन अब तो आप जान गएँ है. 1 April को आप जितना हो सके उतना को अपनी Idea के जरिए मुर्ख बनाएँ तभी तो पता चले आप क्या चीज है. आपको तो मैंने पहले ही April Fool बना दिया है. आप सभी को मेरे और मेरे Website की तरफ से April Fool की हार्दिक शुभकामनाएं

आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे Social Media पर अवश्य Share करें

Thanks to Reading This Post

Writer: Rohit Kumar

Rohit is An Indian Blogger And Web Designer. It Helps People By Sharing Very Important Content Everyday On This Website. Please Help to Make This Website Popular. Read More


Let's Get Connected: Twitter | Facebook | WhatsApp | Instagram |

Post a Comment

If there is any kind of question in this post, then tell it through the comment, we will be happy to answer all your questions.

Previous Post Next Post