होली क्यूँ मनाएँ, कैसे मनाएँ, कब मनाएँ और धमौन के छाता होली के बारें में - Indian Student Help

Latest

All Information Learn Hinglish

14 मार्च 2019

होली क्यूँ मनाएँ, कैसे मनाएँ, कब मनाएँ और धमौन के छाता होली के बारें में




सबसे पहले आपको और आपके पुरे परिवार को हमारी और हमारी Website की तरफ से होली की हार्दिक शुभकामनाएँ. भगवान करें आपके जीवन में इतनी खुशियाँ आ जाएँ कि आपने कभी सोचा भी नहीं हो. हमारी दुआ आपके साथ हमेशा रहेगी. इसी शुभकामनाएँ के साथ Start करते है यह Post के मुख्य बातें जो आपको जानना ही चाहिए कि हम होली क्यूँ खेलें, कब खेलें, कैसे खेलें और मैं आपको इस Post में एक ऐसी अनोखा जगह के बारें में परिचित कराने वाला हूँ जिसे आपको जानना बेहद जरुरी है. मैं यह Article होली के रूप में लिख रहा हूँ लेकिन मैं आपको इसी Post में "छाता होली"  खेलने वालें एक जगह के बारें में भी पूरी जानकारी दूँगा कि यह पर्व यहाँ पर क्यूँ प्रसिद्ध है. तो चलिए हम Direct Topic पर  आते है और सबसे पहले हम उस जगह के बारें में जानते है जहाँ पर छाता होली मनाया जाता है.



India में कहाँ पर छाता होली मनाया जाता है और यह पर्व इन लोगों के लिए इतना महत्व क्यूँ रखता है

बिहार के समस्तीपुर जिला का एक शहर जिसका नाम "धमौन" है. जहाँ पर  हर साल छाता होली को बड़े धुम-धाम से मनाया जाता है. धमौन एक बहुत ही बड़ा शहर है जो बिहार के सबसे बड़े शहर में चुना जाता है. यह शहर धीरे-धीरे काफी विकसित कर रहा है. माना जाता है कि धमौन का पुर्वज हरियाणा राज्य का वाशी थे. कुछ ऐसी उनके साथ घटना हुई जिस कारण  वो हरियाणा राज्य को छोड़ कर एक ऐसी जगह पर आया पहुँचे जहाँ पर सभी  प्रकार का सुविधा उपलब्ध था. हरियाणा से  आठ भाई बिहार के इस पावन धरती पर आएँ थे, जिनमें सबसे बड़े भाई का नाम धम्मन सिंह था उन्हीं के नाम पर इस शहर का नाम धमौन पड़ा है.


धमौन में छाता होली का शुरुआत शायद उन्ही लोगों ने शुरू किए थे. इस शहर का सबसे खास पर्व छठ और होली है. जो सभी पर्वों से अधिक इनके लिए मायने रखता है. होली यहाँ का इसलिए प्रसिद्ध है क्योंकि सभी जगह से अधिक धुम-धाम और आपसी भाई-चारा होने के कारण ये लोगों का पर्व और ही अधिक मजेदार हो जाता है.यहाँ होली की शुरुआत लगभग एक महीने पूर्व ही हो जाती है.




होली के दिन धमौन वाशी दिन भर होली को बड़े शान्ति पूर्ण और अधिक आनन्द लेते है. जब शाम का समय हो जाता है तो ये लोग बड़ी छाता को बना कर सभी के घर जाकर होली का गाना गाते है और प्रसाद भी खाते है. और सभी को गुलाल लगा के गले लगाते है यहाँ के बच्चे गुलाल को लेके अपने से बड़ो के पैर पर रख कर आशीर्वाद लेते है. और ईश्वर से सदा खुश होने के लिए दुआ करते है. जब सभी के घर होली का गीत गया हुआ हो जाता है तब यह अपने मन्दिर जिसका नाम "श्री निरंजन स्वामी" है.  वहाँ पर जाकर भी होली का गीत खूब गाते है तथा भगवान से भी दुआ करते है इस शहर के सभी लोगों को सुरक्षित रखने के लिए. कहा जाता है कि "श्री निरंजन स्वामी" मन्दिर में जो भी कुछ माँगा जाता है वो जरुर पूरा होता है. धमौन वाशी के घर में अगर कोई भी कार्य होता है तो सबसे पहले यह अपने देवता "श्री निरंजन स्वामी" को प्रसाद भेट करते है.


मैं यहाँ पर आपको कुछ धमौन का Picture आपके साथ Share करने जा रहा हूँ जिससे आप देख करअच्छी तरीके से समझ सकते है.

ये है श्री निरंजन स्वामी मन्दिर का Picture
दोनों Picture में धमौन में छाता होली में गीत गाते वहाँ के श्रेठ वाशी

अब तक तो हम एक शहर के छाता होली के बारें में पढ़ रहे थे अब हम Direct होली के Topic पर आते है.


Also Read


किसी का भी Call Recording अपने Mobile में कैसे सुनें 

अपना Professional Email Free में कैसे बनाएँ

हम होली क्यूँ खेलें 

सभी जानते है यह एक हिंदु का महान पर्व है जिसमें असत्य पर सत्य के जीत होने पर यह पर्व को बड़े ही उल्लास के साथ मनाया जाता है. ऐसी कोई बात नहीं है कि यह पर्व सिर्फ हिंदु वर्ग के लोग ही माना सकते है इस पर्व को सभी धर्म के लोग माना सकते है. होली खेलने से आपसी दोस्ती, रिश्ता, प्यार आदि बढ़ता है जिस कारण सभी को होली खेलना चाहिए और बड़ों से भी इस दिन उनके पैर पर गुलाल रख कर उनसे आशीर्वाद माँगना चाहिए.

हम होली कब खेलें

होली आप उस समय खेलिए जब आपके घर पकवान आदि अच्छी तरीके से बन चुका हो और आप उसे खा भी चुके हों. जब आपके Society के सभी Person होली खेलने के लिए एक जगह इकट्टा हो जाएँ तब आप भी उनके साथ होली खेलने के लिए सम्म्लित हो जाएँ और आप भी होली के रंग में रंग जाएँ. होली का खूब आन्नद लें. अपना मन को पूरा खुश रखे, इससे आपको और होली खेलने में मन लगेगा.

हम होली कैसे खेलें 

आप होली हो सकें तो सुखा रंग गुलाल आदि से ही खेलें. आप ऐसे होली के Product का Use करें जिसमें किसी भी प्रकार का कोई भी केमिकल्स मिला हुआ नहीं हो, नहीं तो यह आपके और आपके साथी के लिए काफी हानिकारक साबित हो सकता है. भूल से भी आप रंग या फिर गुलाल को आप किसी के आँख, कान, बाल और ऐसी जगह नहीं लगाएँ जहाँ पर आपको लगाना गलत साबित हो सकता है.होली के दिन आप सिर्फ होली खेलने पर ही नहीं बल्कि ऐसी बात पर भी ध्यान दीजिए जहाँ पर आपको नुकशान पहुँचाएँ.

Also Read


इस टोटके को अपनाएँ कभी भी बुखार नहीं होगा ( काली मिर्च के फायदे )

हम होली के दिन दुसरे लोगों के साथ कैसे पेश आएँ 

होली के दिन लगभग 67% लोग नशे में होते है. वो होली का अधिक आन्नद लेने के लिए नशा कर लेते है लेकिन उनको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि हम होली के दिन नशे में किस प्रकार दुसरे लोगों के साथ पेश आएँ. हो सकते तो आप होली के दिन नशा होने वाली किसी भी प्रकार के Product को Use ही ना करें.
खास बात मैं आपको यह बताने वाला हूँ कि आप होली के दिन किसी भी लड़की या फिर बच्चे के साथ बुरा वर्ताव बिल्कुल नहीं करें. अगर आप ऐसा करते है तो आपका झगड़ा तो उनसे होगा ही साथ ही साथ आपका होली भी बेकार हो जाएगा. होली के दिन ही क्यों आप कभी भी किसी लड़की या फिर अपने से बड़े और छोटे के साथ बुरा वर्ताव बिल्कुल भी नहीं करें. अगर कोई भी लोग होली खेलना नहीं चाहते तो आप उनके साथ जबरदस्ती बिल्कुल भी नहीं करें.
इससे आप होली को अच्छी तरीके से Enjoy कर पाएँगें.


हम होली खेलने से पहले क्या करें

आपके लिए सबसे अहम् बात यह है कि आप होली खेलने से पहले क्या करें. जब भी आप होली खेलने के लिए अपने घर से निकलते है तब उसके पहले आप अपने शरीर पर नारियल या फिर कोई मॉंस्चराइजर Cream को लगा लीजिए जिससे आपके शरीर पर किसी भी गलत Product का हानी नहीं पहुँचे तथा होली खेलने के बाद स्नान करते Time वह रंग जल्द ही धुल के निकाल जाएँ.


आप हो सके तो अपने सिर पर टोपी और आँख को सुरक्षित रखने के लिए चश्मा का प्रयोग अवश्य करें जिससे आपके सर में रंग नहीं लग सकता है. आप चश्मा का इस्तेमाल इसलिए भी करें क्योंकि बहुत सारे लोग होते है जो आँख के पास ही रंग अधिक लगाते है. इससे आपका आँख में किसी भी प्रकार का साइड इफेक्ट होने से बच जाएगा.


तो यह था होली Special Post जिसमें आपको आशा करता हूँ बहुत कुछ सिखने को मिला होगा. एक बार मैं आप सभी को फिर से कह दे रहा हूँ कि होली को बड़े आनन्द से खेलें और गंदगी और केमिकल वाले Product का बिल्कुल भी Use नहीं करें. होली खेले तो आप सिर्फ और सिर्फ सुखा रंग से ही खेले इससे आपको और आपके Friends, Family के लिए Better रहेगा.
इस Post को Last करते हुए एक बार फिर से आपको होली की बहुत सारी शुभकामनाएँ

आपको यह Post अच्छी लगी तो इसे Social Media पर अवश्य Share करें 

Thanks to Reading This Post

1 टिप्पणी:

इस Post में किसी तरह का सवाल हो तो Comment के माध्यम से बताएँ, हमें आपकी सभी सवालों का जवाब देने में ख़ुशी होगी